राजस्थान सरकार ने शुरू किया नवजात शिशु के सुरक्षा के लिए नवजात सुरक्षा योजना

0

राजस्थान सरकार ने नवजात शिशु को पालन पोषण को नजर रखते हुए एक नई पहल की है। सरकार ने नवजात शिशु सुरक्षा योजना का आरंभ किया है। इस योजना के तहत राज्य में जो नवजात कुपोषित या कम वजन का है उसकी पोषण के लिए सरकार के अपनी तरफ़ से सहायता प्रदान करेगी। सरकार नवजात शिशु को पालन पोषण के लिए बेहतर चिकित्सा प्रदान करेगी। जिससे राज्य में नवजात शिशुओं के की मृत्यु संख्या कम हो जायेगी।।।

योजना की विशेषता

नवजात सुरक्षा योजना का आरंभ राजस्थान सरकार द्वारा किया गया है। योजना के अंतर्गत वो सभी शिशु की पालन पोषण के लिए बेहतर चिकित्सा पहुंचाई जाएगी जो वक्त से पहले जन्मे, कुपोषित या कम वजन के होंगे। इस काम को करने के लिए सरकार ने एक नया प्रोग्राम शुरू किया है जिसका नाम कंगारू मदर केयर है। इस प्रोग्राम के अंदर मास्टर ट्रेनर्स तैयार करे जायेंगे जो हर घर जा जा कर माताओं को अपने शिशु की सही तरीके से देखभाल करना सिखायेंगे।।।

इतना ही नहीं बल्कि यह योजना शिशु के साथ साथ माताओं के लिए भी बहुत लाभकरी है। इस योजना में सरकार मांओ भी अपना देखभाल करने के लिए जागरूक करेगी। आमतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चे को जन्म देने के बाद या फिर उससे पहले औरते अपना खास तौर से खयाल नहीं रखती। जिससे आगे चल कर औरते के साथ साथ बच्चो को भी हानि होती है। इसलिए यह आवश्यक है की औरते गर्भावस्था और बच्चे को जन्म देने के बाद अपना भी खयाल पूरी तरह रखें। इसके लिए सरकार 0की महिलाओ को 1500 रूपए और शहरी क्षेत्रों की महिलाओ को 1000 रूपए दे रही है। अगर किसी कारणवश शिशु की मृत्यु गर्भावस्था ही हो जाती है तभी सरकार महिलाओं को यह राशि जरूर देगी।।।

क्या है कंगारू मदर केयर ?

जिस प्रकार एक कंगारू अपने बच्चे की देख भाल करती है और उसकी सुरक्षा करती है उसी प्रकार इस प्रोग्राम में औरतों को उनके नवजात शिशु की देख भाल और सुरक्षा करने के लिए जागरूक किया जायेगा। अनेक केयर सेंटर और चिकित्सा संस्थान के साथ मिल कर सरकार नवजात के पालन पोषण में आर्थिक और चिकित्सक सहायता पहुंचाएगी। जिससे नवजात के मृत दर कम हो सके और नवजात को पूरी तरह से पालन पोषण प्राप्त हो सके। साथ ही समय समय पर नवजात की संपूर्ण स्वास्थ की जांच भी की जायेगी।।।

योजना का मुख्य उद्देश्य

राज्य में नवजात शिशु की मृत्यु दर को कम करने के लिए यह योजना की घोषणा की गई है। सरकार का मुख्य उद्देश्य इस योजना को लेकर यह है की राज्य का हर एक नवजात शिशु स्वस्थ हो और उनकी मृत्यु दर कम से कम हो। क्युकी बच्चे ही भारत का भविष्य है तो सरकार इसके लिए उच्च से उच्च योजना और प्रोग्राम का आयोजन कर रही है। राजस्थान सरकार इसके लिए कंगारू मदर केयर प्रोग्राम भी चला रही है।।।

कैसे करे आवेदन

बता दे की आवेदन करने की प्रक्रिया अभी शुरू नही की गई है। आवेदन करने के लिए महिलाओ को ऑनलाइन वेबसाईट पर ही आवेदन करना होगा। अगर आप राजस्थान के मूल निवासी है तो आपको इस योजना का लाभ जरूर मिलेगा। फिलहाल सरकार ने इस योजना के लिए कोई अधिकारी वेबसाईट नही बनाई है। जल्दी ही website बन जायेगी और आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।।।

महत्वपूर्ण दस्तावेज़

आवेदन का लाभ उठाने के लिए निवासियों के पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चहिए। जैसे की:—

  • परिवार का राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • परिवार के सभी श्रोतो से आने वाली वार्षिक आय
  • बैंक अकाउंट का विवरण
  • शिशु जन्म प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • शिशु के माता-पिता का आधार कार्ड

बता दे की सारे दस्तावेज़ असली होने चाहिए और आवेदन करने के वक्त यह सारे दस्तावेज़ अटैच करना होगा। तभी आवेदन की प्रक्रिया पूरी होगी।।।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)
To Top