राजस्थान शुभ शक्ति योजना क्या है? जाने ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

0

राजस्थान सरकार द्वारा राजस्थान शुभ शक्ति योजना की शुरुआत राज्य की बालिकाओं और महिलाओं को लाभ पहुंचाने के लिए की गई है। इस योजना के अंतर्गत राज्य की बालिकाओं एवं महिलाओं को 55,000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।इस योजना के माध्यम से राजस्थान सरकार आर्थिक रूप से कमज़ोर और जरूरतमंद लोगों की बेटियों की पढाई व शादियों के लिए अनुदान प्रदान करेगी। इस योजना के तहत मिलने वाले अनुदान से राज्य की बालिकाएं और महिलाएं आत्मनिर्भर बनेगी और अपनी शिक्षा अच्छे से पूर्ण कर पाएगी, साथ ही अपना खुद का व्यापार भी शुरू करने मे सक्षम होंगी।

राजस्थान शुभ शक्ति योजना में आवेदन करने के लिए तथा इस योजना से जुड़ी सारी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े। क्योंकि आज इस लेख के माध्यम से हम आपको राजस्थान शुभ शक्ति योजना के उद्देश्य, लाभ, पात्रता एवं आवेदन प्रकिया आदि बताने जा रहे हैं।

राजस्थान सरकार द्वारा राजस्थान शुभ शक्ति योजना की शुरुआत 01 जनवरी 2016 में की गई थी। इस योजना की शुरुआत राज्य के नागरिकों के कौशल विकास के लिए किया गया है। इस योजना के तहत राजस्थान के नागरिकों की बेटियों की पढाई शादी तथा महिलाओं के खुद के व्यापार के लिए ₹55,000 धन राशि प्रदान किया जाएगा। इस योजना की राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते मे भेज दी जाएगी।राजस्थान शुभ शक्ति योजना 2024 के अंतर्गत लाभार्थी के माता व पिता अथवा दोनों, कम से कम एक वर्ष से मण्डल में पंजीकृत निर्माण श्रमिक होंने चाहिए।

योजना का नामराजस्थान शुभ शक्ति योजना
राज्यराजस्थान
कब हुई शुरुआत 01 जनवरी 2016
आवेदनऑनलाइन/ऑफलाइन
उद्देश्यआर्थिक स्थिति में सुधार करना
लाभार्थीराजस्थान राज्य के श्रमिको की बेटियां, स्वयं श्रमिक, परिवार के अन्य सदस्य
ऑफिसियल वेबसाइटयहां क्लिक करें

राजस्थान शुभ शक्ति योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में आर्थिक रूप से कमज़ोर और जरूरतमंद श्रमिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। जैसा कि हम जानते हैं राज्य के श्रमिक लोग आर्थिक रूप से कमज़ोर होते हैं, तथा अपने परिवार का भरण-पोषण, बेटियों को उच्च शिक्षा प्राप्त कराना, बेटियों की शादी कराना अच्छे से नहीं कर पाते हैं। इन सब परेशानियों को ही देखते हुए राजस्थान सरकार ने राजस्थान शुभ शक्ति योजना की शुरुआत की है। तथा इस योजना के अंतर्गत राज्य के पंजीकृत श्रमिक परिवार की बालिकाओं और अविवाहित महिलाओं को सरकार द्वारा ₹55,000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के माध्यम से राज्य की बालिकाएं और महिलाएं आत्मनिर्भर बन पायेंगी।

  1. इस योजना का लाभ पंजीकृत श्रमिक परिवारों की बालिकाओं और महिलाओं को मिलेगा।
  2. इस योजना के तहत श्रमिक परिवार की बेटियों और अविवाहित महिलाओं को 55,000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  3. इस योजना के अंतर्गत मिलेगी राशि से राज्य की महिलाएँ एवं बेटियाँ आत्मनिर्भर बन सकती है। तथा राशि का उपयोग कर उच्च शिक्षा प्राप्त एवं अपना व्यापार शुरू कर सकती है।
  1. राजस्थान के मूल निवासी ही इस योजना के पात्र होंगे।
  2. राज्य के पंजीकृत श्रमिक ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  3. श्रमिक की बेटियाँ जो अविवाहित हो एवं उसके 18 वर्ष पूर्ण हो चुके हों, वही इस योजना की पात्र होंगी।
  4. इस योजना का लाभ अधिकतम दो पुत्रियों को, या महिला हिताधिकारी व उसकी एक पुत्री को मिल सकता है।
  5. आवेदन की तिथि से पूर्व के एक वर्ष की अवधि में हिताधिकारी कम से कम 90 दिन निर्माण श्रमिक के रूप में कार्यरत रहा हो।
  6. 8वी कक्षा में पढ़ रही बालिका और महिला ही इस योजना का पात्र होंगी।
  1. आवेदिका का आधार कार्ड
  2. निवास प्रमाण पत्र
  3. आवेदिका का बैंक अकाउंट पासबुक
  4. बालिका का आयु प्रमाण पत्र
  5. 8वी पास का रिजल्ट
  6. हिताधिकारी पंजीयन परिचय पत्र की प्रतिलिपि।
  7. भामाशाह परिवार कार्ड या भामाशाह नामांकन का फोटोकापी।
  8. जाति प्रमाण पत्र
  9. आय प्रमाण पत्र
  10. मोबाइल नंबर
  11. पासपोर्ट साइज फोटो
  1. आवेदक को सबसे पहले आपको लेबर डिपार्मेंट की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. अब होम पेज पर Online Dashboard Registration/Renewal के विकल्प पर क्लिक करना है।
  3. इसके बाद Registration Form खुल जाएगा, अब Registration Form मे पूछी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक भरें।
  4. अब Registration Form मे मांगी गई आवश्यक दस्तावेजों को स्कैन करके अटैच करे।
  5. इसके बाद सबमिट पर क्लिक करना होगा।
  6. इसके पश्चात आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  1. आवेदक को सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. इसके बाद होम पेज से डाउनलोड फॉर्म के विकल्प को क्लिक करना होगा।
  3. इसके बाद आवेदन फॉर्म डाउनलोड हो जायेगा।
  4. जिसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गयी जानकारी को भरना है।
  5. इसके बाद मांगे गए दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अटैच करना है।
  6. जिसके बाद आपको फॉर्म मंडल सचिव, श्रम विभाग व अन्य सक्षम अधिकारियों के पास जमा करना होगा।
  7. इसके पश्चात आपकी आवेदन प्रक्रिया पूर्ण हो जाती है।

1. Rajasthan Shubh Shakti Yojana की शुरूवात कब हुई थी?

Rajasthan Shubh Shakti Yojana की शुरूवात 1 जनवरी 2016 में हुई थी।

2. Rajasthan Shubh Shakti Yojana का उद्देश्य क्या है?

Rajasthan Shubh Shakti Yojana का मुख्य उद्देश्य राज्य में आर्थिक रूप से कमज़ोर और जरूरतमंद श्रमिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

3. Rajasthan Shubh Shakti Yojana का लाभ किसको मिलेगा?

Rajasthan Shubh Shakti Yojana का लाभ पंजीकृत श्रमिक परिवारों की बालिकाओं और महिलाओं को मिलेगा।

4. Rajasthan Shubh Shakti Yojana के तहत लाभार्थियों को कितनी राशि प्रदान की जाएगी?

Rajasthan Shubh Shakti Yojana के तहत लाभार्थियों को 55,000 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)
To Top