Swami Vivekanand Yuva Sashaktikaran Yojana : छात्रों को मिलेगा फ्री स्मार्टफोन

0

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के द्वारा स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तिकरण योजना को प्रारंभ किया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार योजना के माध्यम से 25 लाख छात्र-छात्राओं को फ्री स्मार्टफोन का वितरण करेगी। 9-10 हजार की कीमत वाले स्मार्टफोन युवाओं को प्रदान किए जाएंगे। जिसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक में 3600 करोड़ रुपए की धनराशि को मंजूरी दी गई है। इस योजना का संचालन 5 साल तक किया जाएगा।

डिजिटल भारत के युवाओं को पढ़ाई व अन्य जरूरतों के लिए स्मार्टफोन आवश्यक बन गया है। कई छात्र-छात्राएं ऐसे होते हैं, जिनकी आर्थिक स्थिति मजबूत न होने की वजह से स्मार्टफोन को खरीद नहीं पाते। ऐसे में छात्र-छात्राओं की जरूरत को समझते हुए उत्तरप्रदेश सरकार के द्वारा Swami Vivekananda Yuva Sashaktikaran Yojana के अंतर्गत फ्री स्मार्टफोन का वितरण किया जा रहा है। अगर आप भी उत्तर प्रदेश के युवा छात्र हैं और जानना चाहते हैं कि कौन-कौन से छात्राओं को स्मार्टफोन या टैबलेट दिए जाएंगे, तो इस लेख को अंत तक पढ़े। क्योंकि आज इस लेख के माध्यम से हम आपको इस योजना की पूरी जानकारी दे रहे हैं।

योजना का नामSwami Vivekananda Yuva Sashaktikaran Yojana
संबंधित विभागसमाज कल्याण विभाग  
शुरू की गई  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा
लाभार्थीराज्य के युवा छात्र-छात्राएं  
उद्देश्यमुफ्त स्मार्टफोन तथा टैबलेट प्रदान कर शिक्षा में हो रही रूकावटों को दूर करना
राज्यउत्तर प्रदेश  
आधिकारिक वेबसाइट  https://digishakti.up.gov.in/

उत्तरप्रदेश सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर छात्र-छात्राओं को स्मार्टफोन देने के लिए स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तिकरण योजना को प्रारंभ किया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के युवाओं को डिजिटल शिक्षा से जोड़ने हेतु निश्चित स्मार्टफोन या टेबलेट वितरित करना है ताकि युवाओं को तकनीकी रूप से सशक्त बनाया जा सके। इस योजना के माध्यम से युवाओं को फ्री स्मार्टफोन या टैबलेट मिलने से वह अपनी आगे की पढ़ाई ऑनलाइन कर सकेंगे। इस योजना के माध्यम से छात्र डिजिटल शिक्षा से जुड़ पाएंगे।

इस योजना का लाभ वित्तीय वर्ष 2023-24 में 25 लाख युवाओं को मिलेगा। राज्य सरकार ने 3600 करोड़ के बजट के साथ इस योजना को प्रारंभ किया है। स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार युवाओं को सैमसंग और लावा कंपनी के स्मार्टफोन देगी, जिनकी कीमत ₹9000 से ₹10000 के करीब होगी।

  • राज्य के युवाओं को इस योजना का लाभ लेने के लिए कहीं पर भी आवेदन या पंजीकरण करने की आवशकयता नहीं है
  • संबंधित कॉलेज/विश्वविद्यालय द्वारा अपने छात्रों के नामांकन डाटा प्रदान किए जाएंगे जिस पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा
  • छात्रों का डाटा अपलोड और सत्यापित होने के बाद छात्र अपने टैबलेट या स्मार्टफोन की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे
  • यदि छात्र के डाटा में कोई किसी प्रकार की गलती मिलती है तो इसकी सुचना विधार्थी अपने कॉलेज के अधिकारी को दे
  • इस योजना की जानकारी छात्र को एसएमएस के माध्यम से मिलती रहेगी
  • इस योजना के माध्यम से युवाओं को फ्री स्माटफोन व टैबलेट का वितरण किया जाएगा।
  • युवाओं को सैमसंग, लावा कंपनी के स्मार्टफोन दिए जाएंगे, जिसकी कीमत 9 से 10 हजार रुपए के बीच रहेगी।
  • स्नातक, स्नाकोत्तर और डिप्लोमा कर रहे छात्रों को ही योजना की मदद से स्मार्टफोन और टैबलेट का वितरण किया जाएगा।
  • जिन छात्राओं के परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर है, उन युवाओं को लाभार्थी सूची में सम्मिलित किया गया है।
  • अलग-अलग चरणों में युवाओं को स्मार्टफोन व टैबलेट का वितरण किया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश डेवलपमेंट सिस्टम कारपोरेशन लिमिटेड को योजना की नोडल एजेंसी के रूप में नियुक्त किया गया है।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को उत्तर प्रदेश का निवासी होना जरूरी है।
  • जो छात्र-छात्राएं स्नातक, स्नातकोत्तर, मेडिकल शिक्षा, कौशल विकास प्रशिक्षण, डिप्लोमा, तकनीकी शिक्षा में अध्यनरत हैं, वही योजना का लाभ लेने के पात्र माने गए हैं।
  • आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 2 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • जिन छात्र-छात्राओं को पहले अन्य किसी योजना के माध्यम से स्मार्टफोन प्रदान किए गए हैं, वह इस योजना का पात्र नहीं होंगे।
  • स्टूडेंट के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • शैक्षणिक योग्यता से संबंधित दस्तावेज देना होगा।
  • आय व जाति प्रमाण पत्र की जरूरत पड़ेगी।
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र भी होना अनिवार्य है।
  • आवेदक छात्र-छात्राओं को अपना चालू मोबाइल नंबर देना होगा।
  • विद्यार्थी को अपने नए पासपोर्ट साइज फोटो भी आवेदन पत्र में लगाने होंगे।

उत्तर प्रदेश राज्य के मूल निवासी छात्र – छात्राओं को इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसी भी प्रकार के ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन प्रकिया को पूरा करने की जरूरत नहीं है। विद्यार्थियों को स्मार्टफोन या टेबलेट दिलवाने की जिम्मेदारी शैक्षणिक संस्थाओं और कॉलेज की होगी। स्मार्टफोन लेने के लिए छात्र-छात्राओं को संस्थानों में किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं देना होगा। यह प्रक्रिया पूरी तरह से फ्री रखी गई है। स्कूल कॉलेज व शैक्षणिक संस्थाओं की जिम्मेदारी होगी कि वह पात्रता रखने वाले छात्र-छात्राओं की जानकारी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपलोड करें। इसके बाद ही राज्य सरकार लाभार्थी सूची में विद्यार्थियों के नाम को शामिल कर उन्हें फ्री स्माटफोन व टैबलेट का लाभ प्रदान करेगी।

1. Swami Vivekanand Yuva Sashaktikaran Yojana किस राज्य में शुरू किया गया है?

Swami Vivekanand Yuva Sashaktikaran Yojana की शुरुआत मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी द्वारा उत्तर प्रदेश राज्य में किया गया है।

2. Swami Vivekanand Yuva Sashaktikaran Yojana का मुख्य उद्देश्य क्या है?

Swami Vivekanand Yuva Sashaktikaran Yojana का मुख्य उद्देश्य राज्य के युवाओं को डिजिटल शिक्षा से जोड़ने हेतु निश्चित स्मार्टफोन या टेबलेट वितरित करना है ताकि युवाओं को तकनीकी रूप से सशक्त बनाया जा सके।

3. इस योजना का लाभ कितने छात्र छात्राओं को मिलेगा?

इस योजना का लाभ 25 लाख युवाओं को मिलेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)
To Top